• 32+ Years of Expertise in Homeopathy
  • Queries from 180+ Countries
  • 430+ Queries Answered Everyday
  • Response in Less Than 48 Hours

* I hereby agree that Lifeforce Homeopathy can call me & send me emails.

What to eat? What to avoid?-Hindi

What to eat? What to avoid?

बीमारी में क्या खाएँ ? क्या न खाएँ (केवल लाइफ फोर्स के मरीजों के लिए)

 

  • सास की तकलीफ (सदी, खाँसी, दमा, इत्यादि)

  • चर्म रोग

  • पेट के विकार

  • मुत्राशय से संबंधित विकार

  • उच्चरक्त चाप के मरीजों के लिए

  • मधुमेह के मरीजों के लिए

 

सास की तकलीफ (सदी, खाँसी, दमा, इत्यादि):

  • ठंडी चीज, ठंडा पानी, आईस्क्रीम का सेवन कम करें I
  • तली चीजें, कृत्रिम रंग वाले पदार्थ न खाएँ।
  • ऐसा कोइ पदार्थ जिससे आपकी तकलीफ बढ़ती हो, उनका सेवन न करें |


चर्म रोग

सामान्य सुचनाः

  • तीखा मसालेदार खाने का परहेज करने से जलन और खुजली कम होगी I

  • कृत्रिम रंग वाले पदाथों का सेवन न करें।

  • मास - मच्छी का सेवन कम करें I

  • रूखी त्वचा के लिए अॉलिव या खोपरे के तेल का उपयोग करें I इसके उपयोग से खुजली भी कम होगी।

 

सफेद दाग के लिए:

  • कच्चे फल, दही और खट्टी चीजों का सेवन न करें।

  • मच्छी का सेवन न करें |

  • कृत्रिम रंग वाले पदाथों का सेवन कम करें।

 

अटॉकेरिया के लिए:

  • कोई पदार्थ जिससे आपकी तकलीफ बढ़ती हो, उनका सेवन ना करें I

  • तीखा और ज्यादा मसालेदार पदाथों का सेवन कम करें |

  • कृत्रिम रंग वाले पदार्थ न ले |

 

खरूज के लिए:

  • तीखे और ज्यादा मसालेदार पदार्थ न ले I

  • कृत्रिम रंग वाले पदाथों का सेवन कम करें।

  • मास - मच्छी न खाए |

  • रूखी त्वचा के लिए अॉलिव या खोपरे के तेल का उपयोग करें I इसके उपयोग से खुजली भी कम होगी।

 

सौरीओसिस के लिए:

  • तीखे और जयादा मसालेदार पदाथों का सेवन ना करे I

  • कृत्रिम रंग वाले पदाथों का सेवन कम करें।

  • मास - मच्छी न खाए |

  • रूखी त्वचा के लिए अॉलिव या खोपरे के तेल का उपयोग करें I इसके उपयोग से खुजली भी कम होगी।

 

लायकन प्लेनस के लिए:

  • तीखे और ज्यादा मसालेदार पदाथों का सेवन ना करे I

  • मास - मच्छी न खाए |

  • रूखी त्वचा के लिए अॉलिव या खोपरे के तेल का उपयोग करें। इसके उपयोग से खुजली भी कम होगी।

 

पेट के विकार:

(अल्सर, अल्सरेटिव कोलाइटिस, आइ. बी. एस, नासूर, मुळव्याध, इत्यादि)

  • तबाकु, पान मसाला, गुटका, सुपारी आदि का सेवन न करें |

  • ज्यादा तली हुई चीजों और बाहर का खाना कम खाएँ।

  • समय पर खाना खाँए I

  • मद्यपान और धुम्रपान न करें।

  • शीतपेय का सेवन न करें |


मुत्राशय से संबंधित विकार:

  • टमाटर, बैंगन, काजू न खाएँ।

  • मद्यपान, बीअर तथा शीत पेय न ले I

  • कृत्रिम रंग वाली पदाथों का सेवन कम करें।

  • मासाहारी पदार्थ का सेवन न करें |

 

उच्चरक्त चाप के मरीजों के लिए:

  • वेफ स, आचार, पापड़, इत्यादि नमकीन चीजो न खाएँ।

  • ज्यादा तले हुए पदाथों का सेवन न करें।

  • मद्य, बीयर और शीतपेय का सेवन न करें।

 

मधुमेह के मरीजों के लिए:

  • मावा मिठाई अथवा कोई भी मीठा पदार्थ न खाँए।

  • आम, चीकू इत्यादि फल न खाँए |

  • ज्यादा तली हुई चीजें न खाँए |

  • शीत पेय का सेवन न करें |

  • समय पर खाना खाँए |

(अधिक जानकारी के लिए लाईफ फोर्स के किसी भी डॉक्टर से संपर्क करे I)

Head Center

411 Krushal Comm. Complex, Above Shoppers Stop, G M Road, Chembur, Mumbai 400089. India
Phone: +91-22-66-888888, 67978289
Phone: (US - Canada only):1-315-351-0898
Email: info@lifeforce.in

Follow Us

*Please note that results and duration of treatment may vary depending on the constitution of your body.